Content Updated On : 2021-10-23

गम वही है जो छूपा लिया जाए ।
जो बता दिया जाए उसे तमाशा कहते है।

30 minutes

Sabhi Ko Sab Kuchh Nahi Milta,
Nadi Ki Har Lehar Ko Sahil Nahi Milta,
Yeh Dil Walo Ki Duniya Hain Dost,
Kisi Se Dil Nhi Milta To Koi Dil Se Nhi Milta.

30 minutes
Bologna

Zindgi Ka Har Zakham Uski Mehrbani Hai;
Meri Zindgi To Ek Adhuri Kahani Hai;
Mita Deta Har Dard Ko Magar;
Ye Dard Hi To Uski Aakhri Nishani Hain.
i miss u muskan

30 minutes

एक भटके हुए लश्कर के सिवा कुछ भी नहीं
ज़िंदगानी मेरी ठोकर के सिवा कुछ भी नहीं |

30 minutes
Bologna

लिख देना ये अल्फाज मेरी कबर पे…!
मौत अच्छी है मगर दिल का लगाना अच्छा नहीं….!!

30 minutes

Ya Khuda Maaf Karna Tere Is Gunehgaar Bande Ko,
Jo Tumhari Chamatkaar Me Dakhil Hota Hai,
Sirf Ye Poochne Ke Liye Aaya Hu Mein,
Ke Kyun Har Raat Tanhai Mein Mera Dil Rota Ha.

30 minutes
Bologna

Ab ye zaruri to nii ki jisse okhushi mile usse mohabbat ho
kyuki saccha pyar to aksar dil todne vale se hi hota h…

30 minutes

मजा चख लैमेने दो उसे
गैरों की मोहब्बत का भी
इतनी चाहत के बाद जो मेरा न हुआ
वो किसी और का क्या होगा

30 minutes

कितनी अजीब बात है ना जब तू मेरे पास थी तो,
हर दम ये सोचता था की क्या में तेरी कदर नहीं करता
और आज तू मेरे पास नहीं है तो है तो ये एहसास होता है की,
कदर तो हमेशा से थी मगर तुजे न खोने के यकीन ने अँधा कर दिया था.

30 minutes
Bologna

एक पल भी सोती नहीं है आँखे, चले आईये
आँसुओं के संग गुजरती है राते, चले आईये
इन्तजार के मोती रोज लुटाती है आँखे
बड़ा सताती है तुम्हारी बाते, चले आईये.

30 minutes
Bologna

I suffered
I learned
I changed

30 minutes
Bologna

“पैसा” कमाने के लिये इतना वक़्त⏰खर्च ना करो की,

“पैसे” खर्च करने के लिये ज़िन्दगी में वक़्त ही ना मिले।

30 minutes

वो कहते हैं हमारी आँखे अच्छी है
ऊब कौन बताए उन्हे
बारिश के बाद मौसम अक्सर सुहाना हो जाता है.

30 minutes

Don't ask me why I changed
Ask yourself what you did to me?

30 minutes
Bologna

Crying is not her hobby,
that's the best gift of her love.

30 minutes

Hmne bhi pyar kiya tha
thoda nii besumaar kiya tha
Dil tut k reh gya
jb usne kha aree maine to mjak kiya tha.

30 minutes

सब कुछ मिला सुकून की दौलत न मिली,
एक तुझको भूल जाने की मोहलत न मिली,
करने को बहुत काम थे अपने लिए मगर,
हमको तेरे ख्याल से कभी फुर्सत न मिली.

30 minutes

किरदार मेरा ,मेरे दुश्मनों से पूछिये,,,,,,,,


दोस्तों के दरम्याँ तो ,हम ज़रा बदनाम हैं........

30 minutes

कैसी अजीब शर्त है , दीदार के लिए

आँखें जो बंद हों तो, वो चेहरा दिखाई दे....!!

30 minutes

*कोई नहीं हैं दुश्मन अपना, फिर भी परेशान हूँ मैं,*
*अपने ही क्यों दे रहे हैं जख्म, इस बात से हैरान हूँ मैं।*

30 minutes